TimesSpeak.com

Welcome To The World Of News Articles

Times speak
Bollywood Gajab Facts Latest News Sci. & Tech.

कल्पना चावला पर बनेगी फ़िल्म ये होगी हेरोइन

कल्पना चावला पर बनेगी फ़िल्म ये होगी हेरोइन

Times speak
Source

आजकल बॉलीवुड में बायोपिक बनने का एक ट्रेंड सा चल पढ़ा है। कई सारी सख्सियतों पर बायोपिक बनायी जा चुकी हैं। जिन्होंने बॉक्स ऑफिस पर काफी अच्छा बिजनेस किया है। ऐसी ही कुछ बायोपिक हैं जो हमेशा के लिए अमर हो जाती हैं। उन्ही में से एक बायोपिक होगी ये।

बता दें, प्रियंका चोपड़ा पहले दिए गए अपने कई इंटरव्यूज में कल्पना चावला की बायोपिक में काम करने की अपनी इच्छा जता चुकी हैं। खबरों की माने तो जल्द ही प्रियंका चोपड़ा इस बायोपिक पर काम शुरू कर सकती हैं।
हालांकि इस मामले में अभी तक कोई भी आधिकारिक सूचना किसी से शेयर नहीं की गई है। बता दें, प्रियंका चोपड़ा इससे पहले भारतीय बॉक्सर मैरी कौम की जिंदगी पर बनी फिल्म में भी लीड रोल अदा कर चुकी हैं।

कौन थी कल्पना चावला

Times speak
Source

कल्पना चावला का जन्म 17 मार्च 1962 को हुआ था। कल्पना चावला एक भारतीय अमरीकी अंतरिक्ष यात्री और अंतरिक्ष शटल मिशन विशेषज्ञ थी। और अंतरिक्ष में जाने वाली प्रथम भारतीय महिला थी। वे कोलंबिया अन्तरिक्ष यान आपदा में मारे गए सात यात्री दल सदस्यों में से एक थीं।
भारत की बेटी-कल्पना चावला करनाल, हरियाणा, भारत में एक हिंदू भारतीय परिवार में जन्म लिया था। उनका जन्म 17 मार्च सन् 1962 में एक भारतीय परिवार में हुआ था। उसके पिता का नाम श्री बनारसी लाल चावला और माता का नाम संजयोती था। वह अपने परिवार के चार भाई बहनो में सबसे छोटी थी। घर में सब उसे प्यार से मोंटू कहते थे। कल्पना की प्रारंभिक पढाई “टैगोर बाल निकेतन” में हुई। कल्पना जब आठवी कक्षा में पहुची तो उसने इंजिनयर बनने की इच्छा प्रकट की। उसकी माँ ने अपनी बेटी की भावनाओ को समझा और आगे बढने में मदद की। पिता उसे चिकित्सक या शिक्षिका बनाना चाहते थे। किंतु कल्पना बचपन सेही अंतरिक्ष में घूमने की कल्पना करती थी। कल्पना का सर्वाधिक महत्वपूर्ण गुण था – उसकी लगन और जुझार प्रवृति। कलपना न तो काम करने में आलसी थी और न असफलता में घबराने वाली थी। उनकी उड़ान में दिलचस्पी जहाँगीर रतनजी दादाभाई टाटासे प्रेरित थी जो एक अग्रणी भारतीय विमान चालक और उद्योगपति थे।

शिक्षा

कल्पना चावला ने प्रारंभिक शिक्षा टैगोर पब्लिक स्कूल करनाल से प्राप्त की। आगे की शिक्षा वैमानिक अभियान्त्रिकी में पंजाब इंजिनियरिंग कॉलेज, चंडीगढ़, भारतसे करते हुए 1982 में अभियांत्रिकी स्नातक की उपाधि प्राप्त की। वे संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए 1982 में चली गईं और 1984 वैमानिक अभियान्त्रिकी में विज्ञान निष्णात की उपाधि टेक्सास विश्वविद्यालय आर्लिंगटन से प्राप्त की। कल्पना जी ने 1986 में दूसरी विज्ञान निष्णात की उपाधि पाई और 1988 में कोलोराडो विश्वविद्यालय बोल्डर से वैमानिक अभियंत्रिकी में विद्या वाचस्पति की उपाधि पाई। कल्पना जी को हवाईजहाज़ों, ग्लाइडरों व व्यावसायिक विमानचालन के लाइसेंसों के लिए प्रमाणित उड़ान प्रशिक्षक का दर्ज़ा हासिल था। उन्हें एकल व बहु इंजन वायुयानों के लिए व्यावसायिक विमानचालक के लाइसेंस भी प्राप्त थे। अन्तरिक्ष यात्री बनने से पहले वो एक सुप्रसिद्ध नासा कि वैज्ञानिक थी।

कटु सत्य

Times speak
Source

अंतरिक्ष पर पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला कल्पना चावला की दूसरी अंतरिक्ष यात्रा ही उनकी अंतिम यात्रा साबित हुई। सभी तरह के अनुसंधान तथा विचार – विमर्श के उपरांत वापसी के समय पृथ्वी के वायुमंडल में अंतरिक्ष यान के प्रवेश के समय जिस तरह की भयंकर घटना घटी वह अब इतिहास की बात हो गई। नासा तथा विश्व के लिये यह एक दर्दनाक घटना थी। 1 फ़रवरी 2003 को कोलंबिया अंतरिक्षयान पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश करते ही टूटकर बिखर गया। देखते ही देखते अंतरिक्ष यान और उसमें सवार सातों यात्रियों के अवशेष टेक्सास नामक शहर पर बरसने लगे और सफ़ल कहलया जाने वाला अभियान भीषण सत्य बन गया।

ये अंतरिक्ष यात्री तो सितारों की दुनिया में विलीन हो गए लेकिन इनके अनुसंधानों का लाभ पूरे विश्व को अवश्य मिलेगा। इस तरह कल्पना चावला के यह शब्द सत्य हो गए,” मैं अंतरिक्ष के लिए ही बनी हूँ। प्रत्येक पल अंतरिक्ष के लिए ही बिताया है और इसी के लिए ही मरूँगी।“

बायोपिक

Times speak
Source

काफी समय से हॉलीवुड प्रोजेक्ट में व्यस्त प्रियंका चोपड़ा जल्दी की दो फिल्मों में एक जैसा किरदार निभाती नजर आएंगी। यकीनन फिल्म इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है।ये किरदार है अंतरिक्ष यात्री का। प्रियंका जल्द ही भारतीय अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला की बायोपिक में काम करने वाली हैं। इसके अलावा प्रियंका आमिर खान की एक ओर ऐस्ट्रनाट पर आधारित फिल्म में काम करने वाली है। आमिर खान की ये फिल्म पूर्व ऐस्ट्रनाट राकेश शर्मा पर आधारित होगी, जिसका नाम ‘सेलूट’ होगा।

कल्पना चावला ने हमारे देश का नाम रोशन किया है इससे हम सभी गौरवान्वित हुए हैं।

उम्मीद है आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होगी। अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई तो कमेंट करके बताएं और अपने दोस्तों से शेयर करें।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published.