TimesSpeak.com

Welcome To The World Of News Articles

Bollywood Gajab Facts Latest News

तब्बू बिना शादी किये इन सुपरस्टार के साथ रहती हैं पत्नी की तरह

तब्बू बिना शादी किये इन सुपरस्टार के साथ रहती हैं पत्नी की तरह

Timea speak
Source

 

अक्सर लोगों के मन में ये सवाल रहता है कि, बॉलीवुड की फैमस अभिनेत्री तब्बू ने शादी क्यूं नहीं की। इसी को लेकर हम आपको उनके बारे में आज कई राज़ बताने वाले हैं। जिसे जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे। आपको शायद यकीन नहीं होगा, लेकिन कुंवारी तब्बू की लाइफ बिलकुल शादीशुदा महिला की तरह है। उनका हमसफ़र उनके साथ है। लेकिन क्यों वह सबके सामने तब्बू को अपनी बीवी नहीं कहता। और आखिर कौन है वह आदमी जिसका तब्बू से इतना गहरा नाता है ? कौन है जिसकी खातिर इतना बड़ा फैसला लिया ? क्यों शादी के फेरे लेकर पत्नी बनना पसंद नहीं किया ?

कौन हैं तब्बू?

Times speak
Source

तब्बू का जन्म 4 नवम्बर 1970 को हुआ। तब्बू एक भारतीय फिल्म अभिनेत्री है। हालांकि उन्होंने कई तमिल, तेलुगू, मलयालम, बंगला भाषा एवं साथ ही एक अमरीकी फिल्म में भी काम किया है, लेकिन मुख्यतः उन्होंने हिंदी फिल्मों में ही अभिनय किया है। उन्हें दो बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का राष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड मिल चुका है एवं उन्हें सबसे अधिक बार (सर्वश्रेष्ठ महिला कलाकार की श्रेणी में फिल्मफेयर का समीक्षक अवॉर्ड सर्वश्रेष्ठ महिला कलाकार की श्रेणी में फिल्मफेयर का समीक्षक अवॉर्ड, चार बार, जीतने का रिकॉर्ड भी हासिल हैं।
कुछ अपवादों के बावजूद, तब्बू मुख्यतः कलात्मक एवं कम बजट फिल्मों में अपने अभिनय के लिए जानी जाती हैं, जो बॉक्स ऑफिस पर आंकड़े (रुपये) जुटाने की बजाय कहीं अधिक आलोचनात्मक सराहना जुटाती हैं। व्यावसायिक तौर पर सफल फिल्मों में उनकी उपस्थिति कम ही रही है और ऐसी फिल्मों में उनकी भूमिका भी बहुत छोटी रही हैं, मसलन-बॉर्डर (1997), साजन चले ससुराल (1996), बीवी नंबर वन, हम साथ साथ हैं (1999) आदि फ़िल्में फिल्म माचिस (1996), विरासत (1997), हु तू तू (1999) अस्तित्व (2000), चांदनी बार (2001), मक़बूल (2003) एवं चीनी कम(2007) में उन्होंने उल्लेखनीय अभिनय किया है। मीरा नायर की अमेरिकी फिल्म ‘द नेमसेक ‘ में भी उनकी मुख्य भूमिका को काफी प्रशंसा मिली। अपनी फिल्मों एवं भूमिकाओं के मामले में काफी चुनिन्दा मानी जाने वाली इस अभिनेत्री का कहना है कि ‘मैं वही फ़िल्में करती हूं, जो मुझे भावुक बना दे एवं सबसे महत्वपूर्ण बात यह कि फिल्म की यूनिट एवं निर्देशक मुझे प्रभावित करने चाहिए।

शुरूआती जीवन

तब्बू 1971 में हैदराबाद में पैदा हुई जो जमाल हाशमी व रिजवाना की पुत्री हैं, हालांकि कुछ स्रोतों से उनके जन्म का वर्ष 1970 होने के भी संकेत मिले हैं। उनके जन्म के तुरंत बाद ही उनके माता-पिता का तलाक़ हो गया। उनकी मां एक स्कूल अध्यापिका थीं एवं उनके नाना-नानी, जो एक स्कूल चलाते थे, सेवा-निवृत्त प्राध्यापक थे। उनके नाना, मोहम्मद एहसान, अंकगणित के प्राध्यापक थे और नानी अंग्रेजी साहित्य की प्राध्यापिका थीं। उन्होंने अपनी पढ़ाई हैदराबाद के सेंट एन्स हाई स्कूल में की। 1983 में तब्बू मुंबई चली गयी एवं उन्होनें दो वर्षों तक वहां के सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज में पढ़ाई की।
वे शबाना आज़मी की भतीजी एवं अभिनेत्री फरहा नाज़ की छोटी बहन हैं। उनके घर मुंबई एवं हैदराबाद दोनों जगहों पर हैं।

सफलता

1996 में, तब्बू की आठ फ़िल्में रिलीज़ हुईं. इनमें से दो फ़िल्में, साजन चले ससुराल एवं जीत काफी सफल रहीं दोनों ने ही उस साल की टॉप पांच फिल्मों में जगह बना ली। उनकी अन्य महत्वपूर्ण फिल्म माचिस फिल्म समीक्षकों द्वारा काफी सराही गयी थी। इस फिल्म में, सिक्ख आतंकवाद के उदय के समय पकड़ी जाने वाली एक पंजाबी महिला की उनकी भूमिका को बहुत सराहना मिली एवं उन्हें सर्वश्रष्ठ अभिनेत्री का अपना पहला राष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड मिला।

1997 में रिलीज़ होने वाली उनकी पहली फिल्म थी बॉर्डर  यह फिल्म 1997 के भारत-पाक युद्ध के दौरान लोंगेवाला की लड़ाई से जुड़ी जीवन की सच्ची घटनाओं के बारे में थी। उन्होनें इस फिल्म में सन्नी देवल की पत्नी की भूमिका निभाई थी। उनकी भूमिका इस फिल्म में छोटी थी, लेकिन यह फिल्म 1997 की सबसे बड़ी हिट बनी। उसी वर्ष, उन्होंने समीक्षकों द्वारा सराही गयी फिल्म विरासत में भी भूमिका निभाई। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सफल रही तब्बू को अपने अभिनय के लिए फिल्मफेयर समीक्षक अवॉर्ड मिला।

अफेयर

Times speak
Source

आपको जानकर हैरानी होगी वह शख्स कोई और नहीं बल्कि साउथ की फिल्मों के सुपरस्टार नागार्जुन है। जानकारी अनुसार बता लगा है क, तब्बू और नागार्जुन का रिश्ता पति-पत्नी से ज्यादा है। नागा चैतन्य ने मुंबई में तब्बू के घर में रह कर अपना अभिनय प्रशिक्षण पूरा किया। और कुछ फिल्में साथ भी की है। तब्बू ने कई बार सबके सामने मीडिया में अप्रत्यक्ष रूप से नागार्जुन के साथ अपने रिश्ते को स्वीकार किया है। नागार्जुन के बारे में उनका कहना है कि नागार्जुन ने सब कुछ दिया है,चाहे उसका ‘सबसे अच्छा दोस्त’ पूछता है या नहीं।अगर वह करोड़ रुपए चाहे तो नागार्जुन उनकी भी उन पर बौछार कर सकते हैं। अब आप जान गए की क्यों तब्बू ने अभी तक औपचारिक शादी नहीं की।
आपको ये बात जानकर भी हैरानी होगी कि नागार्जुन पहले से ही अमाला के साथ अपनी दूसरी शादी में है, अब शायद ही वह तब्बू के साथ तीसरा शादी करेंगे। लेकिन उन सब जिम्मेदारियों का निर्वाह जो पति अपनी पत्नी के लिए करता है वह तब्बू के लिए कर रहे है। इतना ही नहीं उन्होंने अपने घर के बगल में तब्बू के लिए एक महंगे घर का निर्माण भी किया है। अमला ने भी इस प्रेम को समझ लिया और एक बड़े और उदार दिल के साथ इसे स्वीकार किया है।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published.