TimesSpeak.com

Welcome To The World Of News Articles

Gajab Facts Health Latest News

अगर आपके पैर में मोच आ जाये तो ऐसे करें चुटकियों में ठीक

अगर आपके पैर में मोच आ जाये तो ऐसे करें चुटकियों में ठीक

मांसपेशियों में खिचाव या मोच आने की वजह से बेहद दर्द महसूस होने लगता है। इसकी वजह है लिगामेंट्स (उत्तक जो दो या उससे अधिक हड्डियों को जोड़ते हैं) क्षतिग्रस्त हो जाते हैं। आम तौर से मांसपेशियों में खिचाव या मोच ज़्यादा गंभीर समस्या नहीं होते हैं, लेकिन अगर इन पर ध्यान न दिया जाए तो ये समस्याएं बढ़ भी सकती हैं। इस तरह की चोट के कई कारण हो सकते हैं जैसे व्यायाम, दुर्घटना की वजह से चोट, पैर मुड़ना, निर्जलीकरण और खनिजों की कमी जैसे कैल्शियम, पोटैशियम और मैग्नीशियम आदि।

मांसपेशियों में खिचाव या मोच आने की वजह से आपको सूजन, मांसपेशियों में दर्द और अकड़न महसूस हो सकती है। जब तक ये समस्याएं रहती हैं तब तक व्यक्ति उस जगह का इस्तेमाल कुछ दिनों तक नहीं कर पाता। यें परेशानी किसी भी उम्र के व्यक्ति के साथ हो सकती हैं। लेकिन आप इस समस्या का इलाज कुछ घरेलू उपायों की मदद से कर सकते हैं।

मोच और खिंचाव आने के कारण

मोच

जब एक या ज्यादा लिगामेंट्स को खींचा, मरोड़ा या उखाड़ा जाता है, अक्सर यह तब होता है जब किसी जोड़ पर अत्याधिक दबाव या प्रभाव पड़ता है। लिगामेंट्स ऊतकों के मजबूत बैंड होते हैं, जो जोड़ों के आस-पास होते हैं और हड्डियों को एक दूसरे से जोड़कर रखते हैं।

मोच सामान्य रूप से घुटने, टखने, कलाई और अंगूठे आदि में आती है, और इसके लक्षणों में निम्न शामिल हो सकते हैं:

प्रभावित जोड़ के आस-पास दर्द होना।
सामान्य रूप से जोड़ का उपयोग करने या उस पर वजन डालने में असमर्थता।
सूजन व नील पड़ना और छूने पर दर्द महसूस होना।
त्वचा जहां से लाल व सूजन ग्रस्त है, वहा से गर्म होना।
चोट लगने के बाद सूजन जल्दी दिखाई देने लगती है, लेकिन नीला कई बार काफी देर में दिखाई पड़ता है तो कभी-कभी दिखाई भी नहीं देता।

नील कई बार प्रभावित जोड़ से दूर बनता है, ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि प्रभावित मांसपेशियों में से खून का प्रवाह ना हो पाने के कारण खून त्वचा के उपर की तरफ आने लगता है, और स्पष्ट दिखाई देने लगता है।

खिचाव

यह तब होता है, मांसपेशियों के रेशे (fibres) फट या क्षतिग्रस्त हो जाते हैं, या उनमें खिचाव आ जाता है। आम तौर पर यह मांसपेशियों का अपनी सीमा से अधिक खिचाव होने या तेजी से सिंकुड़ने या खुलने के परिणाम से हो सकता है। मांसपेशियों में खिचाव विशेष रूप से टांगों और पीठ में होता है

मांसपेशियों में खिचाव या मोच के घरेलू उपाय

● मांसपेशियों में खिंचाव या मोच के लिए बर्फ का करें इस्तेमाल

● मांसपेशियों में खिंचाव और मोच के लिए इलास्टिक बैंडेज का करें उपयोग

● मांसपेशियों में खिचाव और मोच का उपाय है सेंधा नमक

● सेब के सिरके से मांसपेशी में खिचाव को रखें दूर
टखने में मोच के लिए अरंडी का तेल है फायदेमंद

● टखने की मोच में जैतून का तेल पहुचाता है लाभ

● मांसपेशियों में खिंचाव से राहत पाने के लिए शीरा उपयोगी है।

● मांसपेशी में खिंचाव के लिए लौंग के तेल का करें प्रयोग

● टखने की मोच के लिए प्याज है लाभदायक

● मांसपेशियों में खिचाव और मोच का नुस्खा है वार्म कम्प्रेस

उम्मीद है आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होगी। अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई तो कमेंट करें और अपने दोस्तों से शेयर करें।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published.